On Page SEO kya hota hai? Apne Blog ka On Page SEO Kaise Kare?

On Page SEO kya hai? Top 10 SEO Optimization Tips for Bloggers




On Page SEO kya hota hai? Apne Blog ka On Page SEO Kaise Kare?: अगर आप एक Blogger हैं लेकिन Blogging के मंच पर अभी एकदम नए हैं। आपने कुछ समय पहले ही ब्लॉगिंग की शुरुआत की है तो अभी आपको ब्लॉगिंग के बारे में बहुत कुछ सीखना बाकी है। यह सब तो आप जानते ही हैं कि हर ब्लॉगर की एक ही इच्छा होती है कि उसका हर Article Search Engine (Google) के पहले Page पर आना चाहिए। ताकि आपके ब्लॉग पर Organic Traffic आ सके।

गूगल सर्च इंजन के द्वारा जितना Organic Traffic आपके ब्लॉग पर आता है उतनी ही आपके ब्लॉग की Popularity और Domain Authority बढ़ती जाती है। जो कि आप की लंबी Blogging Race के लिए बहुत ही जरूरी है।

On Page SEO kya hota hai? Apne Blog ka On Page SEO Kaise Kare?
On Page SEO kya hota hai? Apne Blog ka On Page SEO Kaise Kare?

इतना तो मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि चाहे आप Blogging कुछ समय से ही कर रहे हो लेकिन आप यह तो जान ही गए होंगे की किसी भी Article को Google के 1st Page पर Rank कराने के लिए SEO कितना महत्वपूर्ण होता है। लेकिन फिर भी अगर आप SEO (Search Engine Optimization) के बारे में अभी तक कुछ नहीं जानते हैं तो यह थोड़ी सी अजीब बात जरूर है।

हालांकि SEO kya hai? Search Engine Optimization in Hindi? इसके लिए मैं अलग से अपनी एक Post में Details में जानकारी दे चुका हूं। इस Post को आगे पढ़ने से पहले मैं आपसे आग्रह करता हूं कि आप SEO क्या हैं? इस Post को जरूर पढ़ें ताकि SEO की जानकारी आपको एकदम गहराई तक मालूम हो सके।

अगर SEO के प्रकार की बात की जाए तो यह मुख्यतः दो प्रकार का होता है:

  1. On Page SEO
  2. Off Page SEO

लेकिन आज के इस आर्टिकल में हम केवल On Page SEO के बारे में बात करने वाले हैं कि On Page SEO kya hai? अपनी ब्लॉग Post का बेहतरीन तरीके से On Page SEO कैसे करें? वैसे On Page SEO kya hai इसके बारे में मैंने SEO kya hai इस Post में भी संक्षिप्त रूप से बताया है।

लेकिन आज के इस आर्टिकल में हम On Page Optimization के बारे में हर छोटी से छोटी चीज को विस्तारपर्वक जानेंगे और समझेंगे कि किस तरह से आपको अपनी हर Blog Post के लिए On Page Optimization करना चाहिए? आपको SEO करते समय किन किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए?

जब भी कोई नया ब्लॉगर अपने ब्लॉग पर कोई भी New Post लिखता हैं या किसी पुरानी post को Update करता हैं तो एक New Blogger को दो मुख्य SEO Factors को ध्यान में रखना चाहिए:
पहला On Page Optimization और दूसरा Off Page Optimization.

लेकिन अगर SEO के बारे में अच्छे से जानकारी न हो तो कोई भी नया ब्लॉगर बिना किसी SEO Optimization के ही post को Publish कर देता है जोकि आपकी ब्लॉग पोस्ट का Google Search Engine में 1st Page पर Rank न होने का सबसे बड़ा कारण होता है।

वैसे आज के इस आर्टिकल में मैं आपको केवल On Page Optimization के बारे में ही बताने वाला हूं जिसे ध्यान से पढ़ने और Follow करने के बाद किसी भी New Blog Post को Publish करने से पहले आप उसका On Page SEO गूगल सर्च इंजन की जरूरतों के हिसाब से अच्छे से करने में जरुर सफल होंगे।

ऑन पेज एस. ई. ओ. की हर छोटी से छोटी जानकारी के हिसाब से यह आर्टिकल थोड़ा सा ज्यादा लंबा हो सकता है क्योंकि जिस तरह से मैं अपनी हर ब्लॉग पोस्ट को Publish करने से पहले उसका SEO करता हूं आज के इस आर्टिकल में में आपको वह सभी Tips और Techniques बताने जा रहा हूं इसकी वजह से आर्टिकल थोड़ा सा Lengthy (बड़ा) होने का पूरा-पूरा अनुमान है

लेकिन अगर आप अपनी हर ब्लॉग पोस्ट को SEO को ध्यान में रखकर कुछ इस तरह से Optimize करना चाहते हैं कि वह गूगल के पहले पेज पर Rank हो सके। तो मैं आपको Recommend करता हूं कि इस आर्टिकल को आप बड़े ही ध्यानपूर्वक पूरा पढ़ें।




On Page SEO Kya Hai?

What is On Page Optimization in Hindi? अपनी ब्लॉग Post को लिखते समय हर ब्लॉगर के द्वारा की जाने वाली हर वो Technique, हर वह तरीका जिससे वह Post Google के 1st Page पर या फिर 1st page की 1st Position पर प्रदर्शित (Rank) हो सके। On Page SEO कहलाता हैं। मतलब कि अगर एकदम Simple शब्दों में कहां जाए तो किसी भी Post को गूगल में Rank कराने के लिए जो तरीका Bloggers के द्वारा अपनाया जाता है उसे ही On Page Optimization कहते हैं।

किसी भी Post को लिखते समय उसे किस तरीके से Optimize किया जाए उसमे ऐसे कौन से Keywords और कहां इस्तेमाल किए जाए कि वह Google Search Engine में पहले Page पर दिखाई देने लगे?

Blog Post लिखते समय जो Post Title, Permalink Structure, Content, keywords, First और Last Paragraph, Heading और Sub Headings, Images Optimization, Bold और Highlight Text, Focus Keyword, Tags और Internal & External Linking की जो भी जुगलबंदी हम अपने आर्टिकल के साथ करते हैं वह सब On Page SEO के अंतर्गत ही आता है।

इतना सब कुछ पढ़ने के बाद आपको SEO Optimization के बारे में थोड़ा-थोड़ा तो समझ में आ ही गया होगा। तो फिर आप भी Next Time अपने ब्लॉग के लिए कोई भी Post लिखते समय उसे अच्छी तरह से SEO Optimize करके क्यों न लिखे। ताकि वह भी गूगल की Search Visibility में पहले पेज पर रैंक हो सके। अगर आप ऐसा चाहते हैं तो नीचे दी गई सभी Best SEO Optimization Techniques के बारे में बिल्कुल ध्यान से पढ़ें ताकि जब भी अगली बार आप कोई आर्टिकल लिखें तो इन सभी Techniques को अपने Post में Apply कर सकें।




मैं जब भी अपने ब्लॉग पर कोई आर्टिकल लिखता हूं तो मेरी यही कोशिश रहती है कि जिस विषय के ऊपर मैं Article लिख रहा हूं उसके द्वारा मेरे ब्लॉग पर आने वाले Visitors को पूरी जानकारी प्राप्त हो सके। और आज के इस आर्टिकल में भी मेरी यही कोशिश रहेगी कि ज्यादा से ज्यादा और अच्छी तरीके से मैं On Page SEO Optimization के बारे में आप सभी को जानकारी दे सकूं। क्योंकि अगर आप ब्लॉगिंग में सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो SEO के बारे में Proper जानकारी होना अति आवश्यक है। तो चलिए बातें बहुत हो चुकी अब On Page SEO की Top 10 Optimization Techniques के बारे में विस्तार से जानते हैं।

On Page SEO kaise kare? My Top 10 Optimization Techniques

आपको अपने ब्लॉग के लिए On Page SEO करते समय किन-किन बातो का ध्यान रखना चाहिए? नीचे मैं आपको एक-एक Topic को Details में Explain करने जा रहा हूँ इसलिए काफी धयान से पढ़े।

👇1. Blog Post Title:

किसी भी Article में उसके Title का सबसे महत्वपूर्ण कार्य होता हैं क्योंकि Post का Title ही Search Ranking में सबसे पहले Index होता हैं। इसलिए एक अच्छा Post Title लिखना SEO के लिए सबसे पहला काम होता हैं। जब भी आप कोई Blog Post लिखना शुरू करते हैं तो सबसे पहला जो काम होता है वह हैं अपनी Blog Post के लिए एक Catchy और SEO Friendly Title का चुनाव करना।

Title ऐसा होना चाहिए जिसे पढ़ते ही ज्यादा से ज्यादा लोग उस पर Click करने के लिए मजबूर हो जाए। जिससे आपका CTR भी increased होगा जोकि Ranking Boost करने में राम बाण जैसा काम करता हैं। जब भी कोई किसी Keyword को लेकर Google पर Search करता है तो सबसे पहले आपकी Blog post का जो भी Title होता हैं वह ही Search Result में दिखाई देता हैं। और वह भी 1st Page पर तभी आता है जब आपने अपनी ब्लॉग post का On Page SEO एकदम वैसे ही किया होगा जैसा कि होना चाहिए।

जिस भी Targeted Keyword पर आप Article लिख रहे हैं Post के Title में उस Focus Keyword को जरुर स्थान दे। जैसे कि अगर मैं इस Article के Focus Keyword की बात करू तो वह है “On Page SEO” जिसको मैंने Title के शुरू में ही रखा हैं।

ब्लॉग Post का Title काफी ज्यादा लम्बा भी नहीं रखना चाहिए क्योंकि Google Search Results में Title के केवल 65 Words तक ही Visible (दिखाई) देते हैं। बाकी Extra Words के साथ Hide हो जाते हैं जोकि SEO के लिए बिल्कुल भी सही नहीं हैं। इसीलिए कोशिश करे कि Title को केवल 65 Words तक ही सिमित रखे।




अपनी Post के Title में कुछ Popular Words का भी इस्तेमाल करना चाहिए जैसे कि Best, Top, Most, Important, Useful, Excellent, Review, Ultimate & Helpful आदि। क्योंकि जिस भी Post के Title में इस तरह के Words होते हैं औसतन Search result में लोग ऐसे Title पर ज्यादा Click करते हैं। उदहारण के लिए:

Post Title में जरुरत के हिसाब से Numeric Digit जैसे 0-9 का भी Use करे। क्योंकि Popular Words की तरह ही जिस Title में Best 5, Top 10 और 15 important जैसे Keyword होते है उन पर भी ज्यादा Clicks मिलते हैं। उदहारण के लिए:

कुछ Bloggers Title के अंदर एक ही Word को एक से ज्यादा बार Repeat करके लिखते हैं जोकि SEO के नजरिये से बिल्कुल भी सही नहीं हैं। ऐसा करना Keyword Stuffing के अंतर्गत आता हैं जिसके लिए Google आपको Penalize भी कर सकता हैं।

Title में किसी भी Keyword को बार-बार Repeat नहीं करना चाहिए जैसे कि On Page SEO Kya hai? What is On Page SEO in Hindi? यह गूगल की नजर में एकदम गलत तरीका हैं। आपको कुछ इस तरह से लिखना चाहिए On Page SEO kya hai? Post ko Best Tarike se Optimize kaise kare? इसमें कोई भी Word दुबारा Repeat नहीं हो रहा हैं जोकि एक SEO Friendly Title के हिसाब से एकदम सही हैं।

👇2. Blog Post Permalink Structure:

अपनी Blog Post के Title को SEO friendly बनाने के बाद जो 2nd सबसे important काम होता है वह है आपकी ब्लॉग पोस्ट का Permalink Structure जोकि Search Ranking और SEO के लिए एक महत्वपूर्ण Role Play करता हैं। किसी भी Post का Permalink Visitiors को आपके ब्लॉग तक लाने का रास्ता (URL) होता है। अपनी ब्लॉग पोस्ट के Permalink को SEO friendly बनाने के लिए आपको निम्न बातों पर ध्यान देना चाहिए:

1. Extra Words Use न करें:

अपनी ब्लॉग Post के Permalink में किसी भी तरह के Extra शब्दों का प्रयोग न करें जैसे कि Symbols, comma’s, Brackets और हिंदी शब्द आदि। जिस भी Targeted Keyword पर आप पोस्ट लिख रहे हैं उस पूरे Keyword को Permalink में लिखें। उदहारण के तौर पर: “abc.com/one-page-seo-kya-hai-top-11-optimization-techniques-for-bloggers” इसको ऐसे लिखने के बजाए आप इसे “abc.com/one-page-seo-kya-hai” लिखें तो इसे Search Engine में Indexing होने में काफी आसानी रहेगी।

वैसे ही कुछ कुछ Bloggers ब्लॉग Post के Permalink में हिंदी शब्दों का भी प्रयोग करते हैं जैसे कि abc.com/one-page-seo-क्या-हैं” जोकि मेरे हिसाब से बिल्कुल भी सही रास्ता नहीं है। क्योंकि जितनी जल्दी English शब्द Search Engine में index होते हैं उतनी जल्दी हिंदी शब्द नहीं।

2. Permalink को छोटा ही रखें:

जब आप new post के लिए Title डालते हैं तो जो भी Wording आप Title मैं रखते हो तो थोड़ी देर बाद ही बिल्कुल उसी Wording के साथ Post Permalink भी बन जाता हैं। इसलिए Post Title को लिखने के बाद आप Permalink को manually Edit जरूर करें तथा उसे जितना Short हो सकें रखें। एक Short Permalink Structure SEO के लिए काफी Healthy होता है।

3. Focus Keyword जरूर Add करें:

अपनी ब्लॉग पोस्ट में आपको Focus Keyword को जरूर रखना चाहिए। जैसा कि मैंने Blog Post Title वाले Section में बताया था जो भी Focus Keyword आप अपने आर्टिकल के Title में रखेंगे Same बिल्कुल वही Focus Keyword आपको Post के Permalink में भी रखना है।

बस आप यह कोशिश करे कि जितना SEO Friendly article के Permalink को बना सकते हो उतना बनाए Permalink Post Title और Post Content से सम्बंधित होना चाहिए बस इस बात का विशेष ध्यान रखे कि चाहे आप Blogspot या फिर WordPress CMS का इस्तेमाल करते हो आपको Permalink को Default नहीं रहने देना हैं उसे Edit कर SEO के हिसाब से Optimaze जरुर करे

👇3. Blog Post Meta Description:

Post Title और Permalink के बाद जो Factor Search Engine में किसी भी Post की Higher Ranking को सबसे ज्यादा Effect करता हैं वह Post Meta Description होता हैं Post Meta Description में आपको अपनी ब्लॉग पोस्ट के बारे में 160 Words के अंदर छोटा सा Description लिखना होता हैं कि आपकी यह Post किस Topic से सम्बंधित हैं Search Results में Post Title और Permalink के बाद Post Meta Description ही Show होती हैं

SEO के लिए सबसे अच्छा यही है कि आप इसमें High CPC Keyword और जिस Keyword की Search Volume सबसे ज्यादा होती है वो ही लिखें क्योंकि High CPC Keyword रखने से आपको CPC (Cost per Click) ज्यादा मिलेगा जिससे आपकी Income भी अधिक होगी और अधिक Search Volume वाले Keyword रखने से आपके ब्लॉग पर Organic Traffic ज्यादा आयेगा जिससे आपके ब्लॉग का CTR (Click Through Rate) भी increase होगा

👇4. Post Heading और Subheadings

Blog Post को User Friendly बनाने के लिए Headings का इस्तेमाल करें। वैसे भी किसी भी Post के मुख्य-मुख्य Topics को Highlight करने के लिए Heading और Subheadings का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। आप Heading के लिए H2, H3, H4, H5 और H6 का इस्तेमाल कर सकते हैं। Post के Focus Keyword को भी Headings के साथ जरूर Add करें।

यहां पर मैंने H1 Heading को इसलिए Add नहीं किया है क्योंकि आपकी ब्लॉग Post का Title ही Default रूप से H1 Heading के लिए Count होता है। आप Content के अंदर H1 Heading का प्रयोग नहीं कर सकते हैं।

Post के अंदर Headings को Rules के साथ Add करें, किसी भी Heading के साथ Overtake न करें। मेरे कहने का मतलब है कि अगर आप अपनी Blog Post के बीच में कहीं पर H2 का इस्तेमाल करते हैं तो इसके बाद आप H3 का ही इस्तेमाल कर सकते हैं H4 का नहीं।

Post को Headings के साथ Categorize करने से वह Post Visitiors के लिए Easy to Read और गूगल सर्च इंजन के लिए Text Structure को समझने और Indexing के लिए Easy बन जाती है।

👇5. Post Images को Optimize करें:

SEO Optimization में images का भी अहम रोल होता हैं। On Page SEO के लिए images का भी SEO Friendly होना अति आवश्यक होता हैं। Images भी Search Engine से Traffic Generate करने में काफी Helpful होती हैं। वो कहते हैं ना कि Post में use की गई 1 image लगभग 1000 शब्दों के बराबर काम करती हैं।

अपनी Post में कुछ इस प्रकार की images का प्रयोग करें कि Visitors को image को देख कर भी Topic के बारे में बहुत कुछ समझ में आ जाए। अगर आप कोई Tutorial बना रहे हैं तो use की गई images में उस part को Highlight करके दिखाएं जिससे समझने में आसानी हो।

Images का Size कम से कम रखने की कोशिश करें जिससे आपकी Post का Loading time ज्यादा न बढ़े। इसके लिए आप Photoshop या online toos tinypng.com आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं।

जिस Focus Keyword पर आप आर्टिकल लिख रहे हैं images को भी उस Focus Keyword के साथ Rename करें। इसके अलावा images के ALT tags और Title में भी अपने मुख्य Targeted कीवर्ड को जरूर रखें।

👇6. Keyword Density:

अब तक यह तो आप समझ ही गए होंगे कि किसी भी पोस्ट की Higher Ranking में Keywords का कितना महत्व होता है। अगर कोई Visitor Google में किसी ऐसी कीवर्ड को लेकर Search करता है जो आपकी post के अंदर भी है और आपने अपनी पोस्ट का अच्छे से On Page SEO किया हुआ है तो काफी ज्यादा Chances बन जाते हैं कि आपका आर्टिकल भी Top पर दिखाई दे।

अगर आपने कोई Article 1000 Words तक लिखा हैं तो इसमें आप लगभग 15-16 बार ही अपने Focus Keyword को Repeat कर सकते हैं। यानिकी 1000 Words तक के आर्टिकल के लिए Keyword Density लगभग 2.5% से 3% तक ही होनी चाहिए।

जब आप कोई आर्टिकल लिखना शुरू करें तो ध्यान रखें कि आप शुरू के 1st Paragraph में और Last Paragraph में अपने मुख्य Focus Keyword को जरूर रखें। यह तरीका SEO में काफी ज्यादा effective होता हैं। आप आर्टिकल के बीच-बीच में भी अपने Focus Keyword को इस्तेमाल करते रहे।

एक बात और, Post में जहां-जहां पर भी आप अपना Focus Keyword Use कर रहे हो उसे भी Bold कर दे। और कुछ-कुछ Important Words को भी Bold, Italic और Underline के द्वारा Highlights करके दिखाए। ऐसा करने से Indexing के दौरान Google bots का ऐसे शब्दों पर ज्यादा ध्यान जाता हैं जोकि SEO के लिए काफी Helpful रहता हैं।

👇7. Add External & Internal Linking:

आप जो भी Post लिखते हैं उसके अंदर अपनी पुरानी posts की linking भी करते रहें। इसके साथ-साथ कुछ बाहरी Articles को भी links करे। ऐसा करने से यकीन कीजिये आपकी सभी posts के SEO और Ranking में धीरे-धीरे जबरजस्त सुधार देखने को मिलेगा।

Internal Linking:
जब आप अपनी पोस्ट के अंदर पहले से Published की गई अपने ब्लॉग की ही किसी दूसरी पोस्ट का लिंक देते हैं जिस पर क्लिक करने के बाद यूजर आपके ब्लॉग की दूसरी पोस्ट को भी आसानी से पढ़ सके। तो इस तरह से एक पोस्ट के अंदर अपने ब्लॉग की ही किसी दूसरी पोस्ट के आर्टिकल की linking को ही internal linking कहते हैं।

इस तरह की internal linking करने से आपके ब्लॉग का SEO तो मजबूत होगा ही साथ साथ आपके ब्लॉग के Page Views भी बढ़ेंगे तथा Bounce Rate भी काफी कम रहेगा।

External Linking:
किसी दूसरे के Blog या Website का link अपनी ब्लॉग Post के अंदर देना External Linking होता हैं। जैसे कि अगर मैं आपकी किसी Blog Post का Link अपने ब्लॉग की किसी Post के अंदर देता हूँ तो वह External Linking के अंतर्गत आता हैं। ऐसा करने से आपकी Ranking में भी सुधार होता हैं तथा दूसरे Bloggers भी आपके ब्लॉग के बारे में जानने लगते हैं।

लेकिन एक बात का विशेष ध्यान रखे, कभी भी किसी Spam, P*rn, Hacking और S*xy ब्लॉग या वेबसाइट का External link अपने ब्लॉग पर न दे। इससे आपके ब्लॉग की Ranking बढ़ने के बजाय बुरी तरह से घट भी सकती हैं। क्योंकि Search Engines इस तरह की किसी भी Category के link को Indexing के लिए Allow नहीं करता हैं।

👇8. Content Per Post:

अपने हर Article में कम से कम 1,000 Words तक तो रखे ही। जब भी कोई Article आप लिखना शुरू करते हैं तो कोशिश करे कि उसके अंदर उस Topic से सम्बंधित लगभग हर जानकारी आप अपने Visiters तक पंहुचा सके। और मेरा मानना हैं कि जब आप किसी Topic के बारे में Details में बताना चाहते है तो उसे 5,00 – 6,00 Words में शायद आप नहीं बता सकते हैं।

और अगर कोई ज्यादा ही छोटा Article है तो कम से कम 800 Words तो आपको रखने ही चाहिए। अगर आप इससे कम का Article लिखते है तो फिर Search Engine में Top Ranking के बारे में सोचना ही बेकार हैं। अगर किसी वजह से आप Rank भी कर जाते हो तो बहुत ही जल्द आपकी Ranking Down होने लगेगी।

अगर मैं अपनी बात करू तो मैं अपने हर Article को कम से कम 2,000 Words तक रखने की कोशिश करता हूँ। क्योंकि मैं जिस भी Topic को लेता हूँ उससे सम्बंधित हर महत्वपूर्ण जानकारी मैं अपने Visitors को देने की कोशिश करता हूँ। अगर इस Article की बात करे तो यह भी 3500 words से ज्यादा का ही हैं।

Finally मेरा कहना है कि आप अपने ब्लॉग के लिए 1,000 Words से कम की कोई भी Post लिखे ही नहीं। आपका Article जितना ज्यादा Long और Detailing होगा उसकी Ranking भी उतनी ही अच्छी होगी। अब ऐसा भी नहीं हैं कि Post को लम्बा करने के चक्कर में आप अपने मुख्य Topic से ही भटक जाए। याद रहे Post में सिर्फ वो ही लिखा होना चाहिए जो उस Topic से Related जानकारी हो।

👇9. अपनी Site की Speed Improve करे:

Search Engine में आपकी ब्लॉग पोस्ट की Ranking को improve करने के लिए आपकी साइट की Loading Speed कितनी है यह भी एक important factor है। अगर आपकी Website या Blog की Speed कम हैं वह Search Result में Click करने के बाद जल्दी से Web Page तक नहीं पहुचती हैं तो यह आपके ब्लॉग के SEO के लिए चिंता का विषय हैं।

जिसका Loading time काफी कम होता हैं तो Post indexing के समय गूगल Robots आपके Content को छोड़कर किसी दूसरी Website के Content को indexing के लिए ले लेती हैं जिससे आपका Content Ranking में नीचे छूट जाता हैं। अपनी Website और Blog को Fast loading बनाने के लिए आपको बहुत ही Lightweight Theme और plugins जैसे कि W3 Total Cache, WP Rocket आदि का इस्तेमाल करना चाहिए।

अपने ब्लॉग के Homepage की Loading speed बढ़ाने के कम से कम Content Honpage पर रखे। याद रखे आपकी Website जितनी Fast Load होगी Visitors उस पर तभी दोबारा आना पसंद करेंगे। इसीलिए आपको अपनी Site की Loading speed पर भी अच्छे से काम करना चाहिए।

👇10. Social Media Sharing Buttons Add करे:

Social Media का भी किसी post के SEO में काफी महत्वपूर्ण हाथ होता हैं। आपकी ब्लॉग post को Social Media पर जितने ज्यादा Share और Likes मिलते है आपकी post की Ranking भी improve होती जाती हैं इसलिए जरुरी है कि आपकी हर ब्लॉग post में Social Media Share Buttons Add होने चाहिए जैसे कि Facebook, Twitter, ताकि Visitors को अगर आपकी post अच्छी लगे और वह इसे दूसरो के साथ भी Share करना चाहे तो वह कर सके। इससे आपके ब्लॉग पर visitors की संख्या भी बढ़ेगी और आपकी income भी।

Must Read:
WordPress Blog में Social Media Share Buttons Add Kaise Kare? 3 Easy Ways

My Final Words (Conclusion):👇

अगर कोई भी New Blogger ऊपर बताए गई इस पोस्ट “On Page SEO kya hai? को New Post लिखते समय follow करता हैं तो वह इस post को ध्यानपूर्वक पढ़ने के बाद अच्छे से SEO कर सकता हैं और अपने ब्लॉग की Ranking और SEO को improve कर Blogging में सफलता की ओर अपने कदम थोडा और तेजी से बढ़ा सकता हैं।

Read More:
1. Make Money from Blogging in India 2019 – Best 6 तरीके
2. Backlink kya hai? Blog SEO के लिए Backlinks कैसे बनाएं?
3. WordPress Website कैसे Create करे? Full Hindi Guide 2019
4. किसी भी Theme से Powered by WordPress Footer Link कैसे Remove करे?
5. अपने blog और sitemap को Google Search Console को Submit कैसे करे?
6. How To Backup a WordPress Site For Free in Hindi?

अगर इस आर्टिकल में कोई भी ऐसा Topic है जो आपको समझ में नहीं आ रहा है तो आप उसके बारे में नीचे Comment Box में पूछ सकते हैं। और अगर आपको On Page SEO के बारे में ऊपर दी गई Techniques से अलग कोई और Technique मालूम है तो वह भी आप Comment Box के द्वारा हमें बता सकते हैं ताकि उसे भी हम इस आर्टिकल का हिस्सा बना सके।

आशा करता हूँ आज की यह जानकारी आपके और आपके ब्लॉग के लिए काफी महत्वपूर्ण रही होगी। अगर यह post आपको पसंद आये तो इसे आप अपने दोस्तों के साथ Facebook, Twitter, WhatsApp जैसे Social Media Platform पर Share भी करे।

BKN Solution को अपना कीमती समय देने के लिए तथा इस महत्वपूर्ण आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

पढ़ते रहे और सीखते रहे We are with you.

👇यह भी पढ़े Some important articles for you:-👇

DMCA.com Protection Status