SSL Certificate Kya Hota Hai & How does it Work? In Hindi Guide

SSL Certificate Kya Hai & Ye Kaise Kaam Karta Hai? In Hindi Guide: हैलो दोस्तों, इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि SSL Certificate क्या है और यह कैसे काम करता है? अगर आप कोई Blog या Website चलाते हैं तो क्या आपको एसएसएल सर्टिफिकेट अपनी वेबसाइट के लिए लेना चाहिए या नहीं? किसी भी वेबसाइट के लिए SSL Certificate के क्या फायदे होते हैं? इन सभी के बारे में आज हम इस आर्टिकल में विस्तार से जानेंगे।

What is SSL Certificate in Hindi Guide?
SSL Certificate Kya Hota Hai or Ye Kaise Kaam Karta Hai?




दोस्तों Internet पर हम लोग रोज कुछ ना कुछ नया ढूंढते रहते हैं और पढ़ते रहते हैं। आजकल internet मोबाइल के रूप में हर एक इंसान के हाथों में हैं ऐसे में न जाने कितनी तरह की Websites पर हम अपनी personal Details डालते रहते है जैसे कि अपना Name, Email Address, username, Password आदि।

और अगर हमे ऑनलाइन कुछ खरीदने के लिए Online Payment करनी हो तो इस Condition में तो हमे अपने Debit Card, Credit Card और internet Banking तक की डिटेल्स ऑनलाइन Fill करनी होती है।

अगर आप Internet पर रोज नयी-नयी जानकारी पढ़ते रहते है तो आपने कभी न कभी Cyber Crime या Hackers के बारे में जरूर पढ़ा या सुना होगा। तो यह सब जो अपनी निजी Details हम Internet पर डालते है सोचिये अगर एक बार ये सब हमारी Banking Details, User ID, Password आदि किसी भी तरह से इन्टरनेट पर गलत इस्तेमाल करने वाले लोगो के हातो में पड़ जाये तो ये किस हद तक हमे हानि पंहुचा सकते है इसका अंदाजा आप खुद लगा सकते है।

Internet की दुनिया में हमारी यह सब पर्सनल जानकारी कितनी सुरक्षित है इस बारे में बहुत ही कम लोग गंभीरता से सोचते है। ऐसे में हमे इन्टरनेट पर हमे कुछ ऐसे सुरक्षित जोड़ (Secure Connection) की जरुरत होती है जो इन सब जानकारियों को गोपनीयता के साथ सुरक्षित रख सके और जो हमारे और उस वेबसाइट के अलावा जिस पर हमे ये जानकारी Share कर रहे है किसी भी Third Party तक न पहुच सके। क्योकि अगर हमारा Data सुरक्षित नहीं रहेगा तो वह चोरी हो सकता है।

इस समस्या से निजात पाने के लिए आजकल इन्टनेट पर लगभग सभी Websites या Blog एक Secure Protocol का इस्तेमाल करते है जिस Protocol को SSL Certificate कहा जाता है। आज के इस आर्टिकल में हम विस्तार से समझेंगे कि एसएसएल सर्टिफिकेट क्या होता है? और ये काम कैसे करता है?

SSL Certificate Kya Hota Hai? एसएसएल सर्टिफिकेट क्या होता है?

दोस्तों, इन्टरनेट पर काम करने वालो के लिए सिक्यूरिटी एक बहुत बड़ी बात होती है। क्या आपने कभी देखा है कि कुछ Websites के Address http:// से शुरू होते हैं और कुछ Websites के https:// से शुरू होते हैं।

जिन Websites का Web Address https:// से शुरु होता है इसका मतलब है कि उस वेबसाइट के पास SSL Security है। SSL का मतलब “Secure Sockets Layer” होता है। SSL का आविष्कार वर्ष 1994 में NETSCAP Communications के द्वारा असुरक्षित नेटवर्क पर हमारे और सर्वर के बीच सुरक्षा को और मजबूत रखने के लिए किया गया था।

SSL Certificate दो तरह की Keys के साथ काम करता है एक होती है Public Key और दूसरी होती है Private Key. ये दोनों Key एक साथ मिलकर हमारे वेब ब्राउज़र और वेब सर्वर के बीच एक सुरक्षित कनेक्शन को स्थापित करती है जिसके द्वारा हमारा निजी Data जैसे कि Credit Card, Social security numbers, Usernames और Passwords आदि सुरक्षित तरीके से Share होता है। SSL Certificate हमारी निजी जानकारियों को इन्टरनेट पर Cyber Crime करने वाले लोगो के हाथ पड़ने से बचाता है।

SSL Certificate Kya Hota Hai? एसएसएल सर्टिफिकेट क्या होता है?
SSL Certificate Kya Hota Hai? एसएसएल सर्टिफिकेट क्या होता है?

यदि आपकी कोई वेबसाइट है आप भी किसी ब्लॉग या वेबसाइट पर काम करते है और आपने अपनी वेबसाइट के लिए SSL Certificate नहीं लिया हुआ है तो इस परिस्तिथि में जब भी कोई आपकी वेबसाइट को किसी Web Browser में Open करता है तो आपकी Website के Web Address यानि कि आपकी वेबसाइट के Domain Name से ठीक पहले “Not Secure” नाम से एक साइन दिखाई देने लगता है जो दर्शाता है कि इस वेबसाइट पर किसी भी तरह की SSL Security स्थापित नहीं है।

Must Read:
WordPress Website कैसे Create करे? Full Hindi Guide for Beginners 2019

जुलाई 2018 से Google ने अपने Chrome Web Browser में उन सभी वेबसाइटों के लिए वेब ब्राउज़र के एड्रेस बार में “Not Secure” साइन दिखाना शुरू करने का फैसला किया है, जिन Websites पर Valid SSL Certificate install नहीं किया गया है।

How does SSL Certificate Work? एसएसएल सर्टिफिकेट कैसे काम करता है?

जब कोई Web Browser SSL Certificate द्वारा सुरक्षित की गई वेबसाइट तक पहुँचने का प्रयास करता है, तो ब्राउज़र और वेब सर्वर एक SSL Connection स्थापित करते हैं इस प्रक्रिया को “SSL Handshake” भी कहते है। काफी समय पहले जो Protocol डिजाईन किया गया था जिसका नाम था Hypertext Transfer Protocol” (HTTP) जोकि Web Browser से Web Server तक कनेक्शन बनाने का एक बेहद ही सरल तरीका है।

यह विभिन्न प्रणालियों के बीच communication की अनुमति देता है। इसका मुख्य कार्य Web Server से Web Browser में केवल Data Transfer करने का होता है ताकि Users को वह Web Page देखने की अनुमति मिल सके। मूल रूप से यह Protocol सभी प्रारंभिक वेबसाइटों के लिए उपयोग किया गया था।

SSL Certificate Kya Hai in Hindi

सिक्योर सॉकेट्स लेयर (SSL) सर्वर और क्लाइंट के बीच एक सुरक्षित लिंक बनाने के लिए एक मानक सुरक्षा तकनीक है – अगर साधारण शब्दों में कहा जाये तो इन्टरनेट पर हम जो भी वेबसाइट Access करते है उस वेबसाइट के Server और हमारे Web Browser के बीच में SSL Certificate एक सुरक्षित कनेक्शन बनाने में मदद करता है।

लेकिन इस HTTP Protocol के साथ सबसे बड़ी Problem यह होती है कि Server से आपके Web Browser तक आने वाली सभी information को Encrypt नहीं किया जाता है, जिसका अर्थ है कि आपकी कोई भी Online information आसानी से चोरी हो सकती है।




लेकिन अब इस प्रोटोकॉल (http) को (https) “Hypertext Transfer Protocol Secure के नाम से फिर से Modified किया गया है। यहाँ S शब्द दर्शाता है कि वेब एड्रेस में SSL Security (secure sockets layer) सर्टिफिकेट है, जो Server और Web Browser के बीच एक सुरक्षित Encrypted Connection बनाने में मदद करता है, जिससे जो भी संभावित संवेदनशील जानकारी सर्वर और ब्राउज़र के बीच ट्रांसफर होती है उसे चोरी होने से बचाया जाता है।

How Encryption Work in Details? एन्क्रिप्शन कैसे काम करता है? विस्तार से समझे:

SSL (Secure Sockets Layer) का पूरा Concept RSA (Rivest-Shamir-Adleman) algorithm पर आधारित है। RSA आधुनिक कंप्यूटर्स द्वारा उपयोग किया जाने वाला एक ऐसा
algorithm है जो संदेशों को encrypt करने और decrypt करने के लिए use किया जाता है। जहां हर एक SSL certificate में एक Public key और एक Private key होती है। Public key का उपयोग information को Encrypt करने के लिए किया जाता है और information को decrypt करने के लिए Private key का उपयोग किया जाता है।

SSL Certificate Kya Hota Hai? एसएसएल सर्टिफिकेट क्या होता है?
SSL Certificate Kya Hota Hai? एसएसएल सर्टिफिकेट क्या होता है?

जब आपका Web Browser किसी सुरक्षित डोमेन से जुड़ता है, तो Server Encryption करने के लिए Public key को Browser में भेजता है। इस प्रकार, सार्वजनिक कुंजी सभी को दे दी जाती है, जबकि निजी कुंजी (डिक्रिप्शन के लिए प्रयुक्त) गुप्त रखी जाती है। Secure Communication के समय Web Browser Public key का उपयोग करके information को Encrypt करता है और इसे सर्वर पर भेजता है जबकि information Private key का उपयोग कर सर्वर साइड पर decrypt है।

चलिए SSL Certificate को बहुत ही सरल शब्दों में समझते है: मान लीजिए कि आप किसी वेबसाइट पर ऑनलाइन Payment करते हैं, जहां आप अपनी Personal संवेदनशील Information जैसे अपने Credit card number, Email ID, Username और Password को भरते हैं। ये सभी ऐसी जानकारी है जो आप दूसरों को नहीं बताना चाहते हैं।

लेकिन अगर आप यह सभी जानकारी इस तरह की वेबसाइट पर देते हैं जो http:// पर चल रही है जिसका एड्रेस http:// से शुरू होता है जैसे कि http://www.example.com इस Condition में यह पूरी जानकारी encrypted नहीं है और यह Cyber Crime करने वालो द्वारा चुराई जा सकती है क्योंकि ऐसी Websites SSL Certificate का उपयोग नहीं कर रही हैं।




दूसरी तरफ अगर आप इस तरह की जानकारी ऐसी वेबसाइट पर देते हैं जो कि https:// पर चल रही है, जैसे कि https://www.example.com इस मामले में यह जानकारी पूरी तरह से encrypted है और इसे चुराया नहीं जा सकता है क्योंकि इस तरह की सभी Websites एक Valid SSL Certificate का उपयोग कर रही हैं। आप यहाँ पर अपने कोई भी पर्सनल इनफार्मेशन के साथ-साथ Secure Online Payment भी कर सकते है।

Do i need an SSL Certificate? क्या मुझे SSL Certificate की आवश्यकता है?

Kya Mujhe Apne blog ke liye ek SSl Certificate Lena Chahiye: यदि आपकी वेबसाइट Visitors से उनकी संवेदनशील जानकारी नहीं जमा करती है, जैसे Credit cards, Debit cards, Username, Passwords or social security numbers आदि तो इस स्थिति में जरुरी नहीं है कि आपको अपनी वेबसाइट में एक Valid SSL Certificate Install करना चाहिए।

हालाँकि, SSL Certificate आपकी वेबसाइट पर ट्रैफ़िक बढ़ाने में और आपकी Website की Higher Ranking में काफी Helpful होता है। इसलिए अगर आप कोई Website या Blog चलाते है तो इसमें सफलता पाने के लिए आपको अपने ब्लॉग के लिए एक SSL Certificate जरूर ले लेना चाहिए।

नए ब्राउज़र नोटिस के अनुसार, अब यह जरूरी कर दिया गया है कि हर वेबसाइट या ब्लॉग पर SSL Certificate हो और वह (http) “Hyper Text Transfer Protocol” की जगह (https) “Hyper Text Transfer Protocol Secure” पर load होनी चाहिए।

What is advantages of SSL Certificate? एसएसएल सर्टिफिकेट के क्या फायदे हैं?

अगर आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर एक SSL Certificate लगाते है तो इसके बहुत सारे फायदे हैं। SSL Certificate के 4 प्रमुख लाभ इस प्रकार हैं:

1. Strongest Encryption to Secure Information: सुरक्षित जानकारी के लिए एक सबसे मजबूत एन्क्रिप्शन:

SSL certificate का मुख्य उद्देश्य जानकारी को Encrypt करना है ताकि इसे केवल संबंधित पक्षों द्वारा पढ़ा और समझा जा सके। SSL certificate बताता है कि आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के बारे में सभी जानकारी Encrypted है। एक SSL Connection पर transferred सभी जानकारी एन्क्रिप्ट की गई है और ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे कोई आपकी जानकारी को डिक्रिप्ट कर सके।

जब क्रेडिट कार्ड डेटा और अन्य निजी जानकारी Web Server और Users के ब्राउज़र के बीच transferred होगी, तो साइट को मजबूत एन्क्रिप्शन के साथ सुरक्षित किया जाएगा, जिससे हैकर्स को संचारित जानकारी को जानने के लिए कोई जगह नहीं बचे।

2. Boost Ranking in Search Results: खोज परिणामों में रैंकिंग को बढ़ावा देना:

SSL Certificate के साथ सुरक्षित वेबसाइट को Google के Search Results में रैंक होने में काफी मदद मिलती है है। यदि आपकी वेबसाइट एसएसएल सर्टिफिकेट के साथ सुरक्षित है और Web URL एक सुरक्षित https प्रोटोकॉल के साथ शुरू होता है, तो आपको Search Results में रैंकिंग का लाभ मिलेगा। यदि आपकी वेबसाइट का Sitemap सबमिट नहीं किया जा रहा है, तो SSL Certificate Install करने से Sitemap आसानी से Submit हो जाता है।

3. Secure Payments to Experience Safe Shopping: सुरक्षित खरीदारी और सुरक्षित भुगतान:

सभी E-Commerce वेबसाइट के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है की वह अपनी Website में SSL certificate की Security रखे क्योंकि सभी ई कॉमर्स वेबसाइट ज्यादातर Online Payment लेती है। इसलिए Business Website के लिए SSL certificate होना अनिवार्य है।

4. Increase visitor loyalty to your Website: अपनी वेबसाइट के लिए आगंतुक वफादारी बढ़ाएँ:

यदि आपकी Website या Blog व्यक्तिगत डेटा के साथ Account Login का उपयोग करती है, तो आपके पास वैसे भी एक SSL certificate होना चाहिए। अगर आपकी साईट पर आने वाले Visitors को लगता है कि वह जो भी Information आपकी Website पर डालते हैं वह एकदम सुरक्षित है तो उनके बार-बार आपकी वेबसाइट पर वापस आने की संभावना अधिक रहती है।

Conclusion: निष्कर्ष:

आशा करता हूँ कि अब आपको SSL Certificate के बारे में पूर्ण जानकारी मिल गयी होगी कि
SSL Certificate क्या होता है? आपको अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए SSL Certificate लेना चाहिए या नहीं? SSL Certificate के क्या-क्या फायदे होते है? आदि। अगर अभी भी आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमसे Comment Box में पूछ सकते है।

यह भी पढ़े Some important articles for you:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status